पूर्णिया: ED की कार्रवाई के खिलाफ धरने पर बैठे PFI के सदस्य

ईडी की कार्रवाई को राजनीति से प्रेरित बताकर पीएफआई के सदस्य ऑफिस के सामने धरना पर बैठ गए. पीएफआई के सदस्यों ने समाहरणालय के मेन गेट का घेराव किया.

पूर्णिया: एनआरसी और सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के लिए संदिग्ध फंडिंग के मामले में ईडी ने गुरुवार को पूर्णिया स्थित पीएफआई (पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) के ऑफिस पर छापा मारा.

शहर के सहायक खजांची थाना क्षेत्र के राजाबाड़ी स्थित पीएफआई के दफ्तर पर ईडी की छापेमारी हुई. वहीं, ईडी की कार्रवाई को राजनीति से प्रेरित बताकर पीएफआई के सदस्य ऑफिस के सामने धरना पर बैठ गए. पीएफआई के सदस्यों ने समाहरणालय के मेन गेट का घेराव किया. समाहरणालय और पीएफआई ऑफिस के बाहर पुलिस बल की तैनाती की गई है.

पीएफआई की आवाज दबाने की कोशिश
ईडी की कार्रवाई का विरोध कर रहे संस्था के सदस्यों ने कहा कि यह कार्रवाई संस्था को उसके उद्देश्यों से भटकाने के लिए की गई है. छापेमारी भाजपा के शह पर की जा रही है. कृषि बिल के विरोध में पीएफआई आगे आई है. इसकी आवाज दबाने के लिए भाजपा और आरएसएस के इशारे पर कार्रवाई की गई है.

"ईडी कठपुतली है, जिसे सरकार अपने इशारे पर रिमोट की तरह इस्तेमाल कर रही है. ईडी घंटों से पीएफआई के दफ्तर में छापेमारी कर रही है. यह परेशान करने की एक साजिश है. इसके विरोध में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के सदस्य शांतिपूर्ण तरीके से धरना व घेराव कर रहे हैं."- मोहम्मद खुर्शीद, जिलाध्यक्ष, पीएफआई