मसालों के शहंशाह महाशय धर्मपाल गुलाटी का निधन

मसालों के किंग कहे जाने वाले महाशय धर्मपाल गुलाटी का दिल्ली के चंदन देवी हॉस्पिटल में इलाज के दौरान 97 साल की उम्र में निधन हो गया. उनका निधन आज सुबह 5 बजकर 38 मिनट पर हुआ.

नई दिल्ली: मसालों के शहंशाह कहे जाने वाले एमडीएच मसाला कंपनी के मालिक महाशय धर्मपाल गुलाटी का 97 साल की उम्र में निधन हो गया. उन्होंने दिल्ली के जनकपुरी में स्थित माता चंदन देवी हॉस्पिटल में आज सुबह करीब छह बजे आखिरी सांस ली. धर्मपाल गुलाटी वसंत विहार में रहते थे.

दुनियाभर में अपने मसालों के जायकों के लिए पहचान रखने वाले धर्मपाल गुलाटी की जिंदगी भी काफी उतार-चढाव भरी रही है. एमडीएच मसालों के विज्ञापनों में दिखाई देने वाले एमडीएच के मालिक चुन्नी लाल महाशय धर्मपाल गुलाटी उर्फ चुन्नी लाल एक सफल उद्योगपति थे.

सियालकोट में हुआ था जन्म

धर्मपाल गुलाटी ने अपने जीवन में यह शीर्ष मुकाम बड़े संघर्ष की बदौलत पाया था. महाशय जी के नाम से जाने जाने वाले धर्मपाल गुलाटी का जन्म पाकिस्तान के सियालकोट में साल 1923 में हुआ था.

धर्मपाल गुलाटी ने 1956 में एमडीएच की स्थापना की थी. आज दुनिया के कई शहरों में एमडीएच की ब्रांच है. एमडीएच कंपनी की 80 प्रतिशत हिस्सेदारी धर्मपाल गुलाटी के पास है.

महाशय धर्मपाल गुलाटी को पिछले साल व्यापार एवं उद्योग खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में योगदान के लिए भारत सरकार ने पद्म भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया था.