अपने पूर्व डिप्टी को मिस करेंगे? मुस्कुराकर बोले CM- हमारी तो इच्छा थी, लेकिन.


सुशील कुमार मोदी ने आज राज्यसभा उप चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल किया. इस दौरान बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी मौजूद रहे. पत्रकारों ने जब नीतीश से सुशील मोदी को मिस करने की बात पूछी तो दोनों नेता एक दूसरे को देखकर मुस्कुराने लगे.

पटना: बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आज राज्यसभा के लिए नामांकन पत्र दाखिल कर दिया. इस मौके पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, बिहार बीजेपी के अध्यक्ष संजय जयसवाल, उपमुख्यमंत्री तार किशोर प्रसाद और रेणु देवी के साथ पूर्व सीएम जीतन राम मांझी और वीआईपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी भी मौजूद रहे. नामांकन के बाद सभी नेता पत्रकारों से बात की. एक सवाल को सुनकर नीतीश कुमार और सुशील मोदी एक दूसरे को देखकर मुस्कुराने लगे.

सुशील मोदी को मिस करेंगे?

'हम लोग तो साथ मिलकर काम किए है, हम लोगों की तो जो इच्छा थी वो तो जग जाहीर है. लेकिन यह तो पार्टी का एक निर्णय है कि इन को यहां के वजाय केंद्र में ले जाना चाहते है. यह खुशी की बात है कि चारों सदन के अब सुशील मोदी सदस्य हो जाएंगे. यह अवसर सब को नहीं मिलता है. सुशील मोदी ने बिहार की बड़ी सेवा की है. अब केंद्र में भूमिका निभाएंगे. इन को यह अवसर मिल रहा है. तो यह मेरे लिए खुशी की बात है.' - नीतीश कुमार, मुख्यमंत्री

हम तो पहुंचे हैं बधाई देने

'हम तो बधाई देने पहुंचे हैं. सुशील मोदी ने बिहार की बहुत सेवा की है. अब पार्टी का फैसला है कि केंद्र में योगदान दें. और अब तो चारों सदन के सदस्य हो जाएंगे और ऐसा सबको अवसर नहीं मिलता. सुशील मोदी को मिस करने के सवाल पर कहा कि हम लोगों की क्या इच्छा थी यह सबको पता है, लेकिन पार्टी का यह फैसला है.'- नीतीश कुमार, मुख्यमंत्री

नीतीश कुमार और सुशील मोदी की जोड़ी रही है चर्चा में
सुशील मोदी और नीतीश कुमार की जोड़ी खूब चर्चा में रही है. बिहार में सुशील मोदी 2005 से कुछ सालों को छोड़कर लगातार उप मुख्यमंत्री और वित्त मंत्री के रूप में काम करते रहे. लेकिन अब बीजेपी ने उन्हें बिहार से निकालकर केंद्र में ले जा रही है. राज्यसभा नामांकन के बाद एनडीए नेताओं का दावा है कि जीत पक्की है, क्योंकि एनडीए के पास बहुमत है. एनडीए के नेता भी चाहते हैं कि सुशील मोदी को केंद्र में बड़ी जिम्मेवारी मिले.