कैमूर: मिनी गन फैक्ट्री का पर्दाफाश, हथियारों के साथ 4 आरोपी गिरफ्तार

कैमूर जिले के चैनपुर थाना क्षेत्र में पुलिस ने छापेमारी कर मिनी गन फैक्ट्री का भंडाफोड़ पर भारी मात्रा में हथियारों के साथ चार आरोपियों को गिरफ्तार किया. पुलिस ने गिरफ्तार लोगों के निशानदेही पर हथियार बनाने वाली मिनी फैक्ट्री पर छापा मारकर भारी मात्रा में हथियार बरामद किए.

कैमूर: जिले के चैनपुर थाना क्षेत्र में पुलिस के द्वारा चलाए जा रही विशेष छापेमारी अभियान में चैनपुर पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. शुक्रवार की रात पुलिस ने बाइक पर सवार होकर जा रहे तीन लोगों की जांच की तो उनके पास से एक अवैध राइफल और दो जिंदा कारतूस बरामद हुए.

गिरफ्तार लोगों की निशानदेही पर पुलिस ने हथियार बनाने वाली मिनी फैक्ट्री पर छापा मारा. जहां पुलिस ने भारी मात्रा में हथियार बनाने का सामान और कई देसी कट्टे बरामद किए.


भारी मात्रा में हथियार बरामद

गिरफ्तार लोगों में ग्राम नरांव के जालिम राम, ग्राम देवरजी कला के संजय खरवार और ग्राम नरांव के अनिल खरवार के पास से अवैध हथियार और एक नाली बंदूक बरामद हुए. वहीं, ग्राम तेनौरा का रामदुलार शर्मा मिनी फैक्ट्री का संचालन कर रहा था. उसके पास दो देसी कट्टे, छह जिंदा कारतूस, छह अर्ध निर्मित देसी कट्टे, दो खोखा, हथियार बनाने वाला उपकरण, एक मोटरसाइकिल और एक वेल्डिंग मशीन बरामद की गई.

चेकिंग अभियान में आरोपियों को दबोचा
कैमूर एसपी दिलनवाज अहमद ने बताया गया कि अवैध शराब और अवैध हथियारों की बरामदगी के लिए विशेष चेकिंग अभियान चलाए जा रहे हैं. इस दौरान चैनपुर अवखरा मोड़ और खरीगांवा चौक के पास एक मोटरसाइकिल पर सवार तीन व्यक्तियों को रोकने का प्रयास किया, तो उन्होंने गाड़ी को लेकर भागना शुरू कर दिया. जिन्हें पुलिस ने पीछा करने पकड़ लिया. तलाशी के बाद आरोपियों के पास से एक देसी 315 बोर का एक नाली राइफल, दो जिंदा कारतूस और एक खोखा बरामद हुआ.

घर में चल रही थी मिनी गन फैक्ट्री
राइफल के विषय में जानकारी लेने पर उन्होंने बताया कि रायफल को ग्राम तेनौरा के रामदुलार शर्मा के घर से खरीद कर ला रहे हैं. जिसके बाद आरोपियों की निशानदेही पर रामदुलार शर्मा के घर छापेमारी की. जहां घर में मिनी गन फैक्ट्री का संचालन किया जा रहा था. रामदुलार शर्मा 1976 में अवैध हथियार बनाने के मामले में जेल भी जा चुका है.