कांग्रेस की टिकट पर विक्रम विधानसभा सीट से दूसरी बार जीते सिद्धार्थ सिंह

बिक्रम विधानसभा से दूसरी बार जीत की सूचना मिलने के बाद कांग्रेस उम्मीदवार सिद्धार्थ सिंह के पैतृक गांव में जीत के लड्डू बांटे गए. हांलाकि चुनाव आयोग द्वारा आधिकारिक घोषणा का ऐलान होना बांकी है.

पटना: राजधानी के विक्रम विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस की टिकट पर सिद्धार्थ सिंह दूसरी बार विधानसभा की चौखट के अंदर प्रवेश करने जा रहे हैं. नतीजों के ऐलान के बाद सिद्धार्थ सिंह के पैतृक गांव बिहटा प्रखंड के अमहारा में खुशी की लहर दौर गई.

दूसरी बार जीते सिद्धार्थ
अमहारा के ग्रामीणों ने कहा की 2015 में कांग्रेस के तरफ से सिद्धार्थ सिंह विक्रम विधानसभा से उम्मीदवार बने थे. और 2015 में भी भारी बहुमत से जीत दर्ज की थी. अब 2020 में भी बिक्रम विधानसभा की जनता ने उन पर भरोसा किया. इस बार भी विक्रम विधानसभा की जनता ने उन्हें भारी मतों से विजय बनाया है.

आधिकारिक घोषणा का है इंतजार
वहीं अभी तक चुनाव आयोग के तरफ से आधिकारिक रूप से उन्हें विजय घोषित नहीं किया गया है. लेकिन रूझानों के साफ होने के बाद से ही सिद्धार्थ सिंह के पैतृक गांव में जीत की मिठाई बांटना शुरू हो गया है. इसके बावजूद भी उनके पैतृक गांव में जश्न का माहौल है चारों तरफ उनके ही नारे लग रहे.

दिलचस्प हो रहा बिहार विधानसभा चुनाव
बिहार विधानसभा चुनाव के आ रहे रूझानों के बाद मुकाबला दिलचस्प हो गया है. सुबह से ही रूझानों में दोनों गठबंधन एक दूसरे को कांटे की टक्कर दे रहे हैं. कई सीटों पर वोटों का फासला 1000 से भी कम है. तो वहीं, कई ऐसी भी सीटें हैं जहां अब तक के रूझानों के अनुसार वोटों का अंतर 500 है.