पटना: प्राचीन काली माता मंदिर में दर्शन मात्र से सारी बाधाएं होती हैं दूर !

जिले के पेठिया बाजार स्थित मां काली मंदिर में सैकड़ो साल से पूजा अर्चना होती आ रही है. इस वर्ष कोरोना काल में भी काली मंदिर में आरती के समय सैकड़ों श्रद्धालुओं की भीड़ इकठ्ठा हो जाती है.

पटना: जिले के दनापुर के पेठिया बाजार में मां काली के मंदिर में नवरात्रि के तीसरे दिन श्रद्धालुओं ने मां दुर्गा की पूजा-अर्चना की. इसके साथ ही उन्होंने आस्था और एकता दीप जलाकर माता की आरती की.

कलश स्थापना का आदेश
कोरोना काल में जहां सरकार ने मात्र कलश स्थापना करने की इजाजत देते हुए कहा कि पारम्परिक विधि अनुसार पूजा करें और भीड़ न लगाएं. इस बात को सभी सभी पूजा कमेटियों के लोग पालन कर रहे हैं. मंदिर के पुजारी ने कहा कि सरकार के माध्यम से जारी गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है. लोगों की आस्था के माध्यम से कोरोना जैसी बीमारी पर विजय प्राप्त किया जा सकता है.

दसवीं पीढ़ी कर रही मां काली की पूजा
काली मंदिर के पुजारी ने मन्दिर के बारे में कहा की यह मंदिर बहुत पुराना है और उनकी दसवीं पीढी मां काली की विधिवत पूजा कर रही है. मां काली की कृपा सभी लोगों पर बनी हुई है.