CBSE Board Remaining Exam Date 2020 : 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द, जानें कोर्ट में सीबीएसई ने और क्या कहा...

CBSE Board Remaining Exam 2020: सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान सीबीएसई ने कहा है कि आगामी 1 जुलाई से बोर्ड की परीक्षा नहीं होगी. आगे हालात देखकर बोर्ड परीक्षा आयोजित की जाएगी. लाइव लॉ की रिपोर्ट के अनुसार सीबीएसई की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने यह बातें कही. सॉलिसटर जनरल तुषार मेहता सीबीएसई की ओर से अपना पक्ष रख रहे हैं. इससे पहले 23 जून को कोर्ट ने सुनवाई को टाल दिया था. बता दें कि सीबीएसई के साथ ही आईसीएसई बोर्ड एग्जाम पर भी आज फैसला हो सकता है.

सीबीएसई ने कोर्ट में कहा कि 12वीं के परीक्षार्थियों का मूल्यांकन पिछले एग्जाम के आधार पर किया जाएगा. अगस्त के मध्य रिजल्ट जारी किया जाएगा. सीबीएसई की ओर से दलील रखते हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि दिल्ली, महाराष्ट्र और तमिलनाडु ने परीक्षाएं आयोजित करने में असमर्थता जताई है.

बोर्ड परीक्षार्थियों के माता-पिता द्वारा दायर याचिका में कहा गया है कि कोविड-19 का प्रसार तेजी से बढ़ता जा रहा है. ऐसे में एग्जाम लेना सुरक्षित नहीं है. हालांकि सीएबीएसई ने पिछले दिनों अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि बोर्ड एग्जाम को रद्द नहीं किया जा सकता है. सीबीएसई इसके डेट बढ़ाने पर विचार कर रही है.


सुनवाई के बाद माना जा रहा है कि नीट और जेईई के एग्जाम के बारे में भी फैसला किया जा सकता है. बता दें कि नीट एग्जाम मेडिकल एंट्रेंस तो, जेईई इंजिनयरिंग के लिए होता है. नीट का एग्जाम 26 जुलाई को निर्धारित है, वहीं जेईई का एग्जाम 18 जुलाई को होना है.

आईसीएसई पर भी फैसला- सीबीएसई बोर्ड एग्जाम के साथ साथ ही आज आईसीएसई बोर्ड एग्जाम पर फैसला हो सकता है. पिछले दिनों सुनवाई के दौरान आईसीएसई ने कहा थी कि सीबीएसई बोर्ड एग्जाम को लेकर जो फऐसला करेगी, हम भी वही फैसला लेंगे.

देश के 15000 हजार सेंटरों पर होना है एग्जाम- बता दें कि 1 जुलाई से देशभर में 15000 सेंटरों पर एग्जाम होना है. इससे पहले, केंद्र सरकार ने बताया कि सीबीएसई 15000 सेंटरों पर बोर्ड एग्जाम आयोजित करवाएगी. केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट कर कहा कि पहले 3000 सेंटर पर एग्जाम होते थे, अब इसे बढ़ाकर 15000 कर दिया गया है. सरकार ने यह फैसला सोशल डिस्टेंसिंग के मद्देनजर किया है.

29 विषयों की होनी है परीक्षा- इससे पहले केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने छात्रों के साथ बातचीत के बाद 29 अप्रैल को बताया था कि बोर्ड एग्जाम के 81 बचे विषयों में से सिर्फ 29 विषयों की परीक्षा ली जायेगी. अन्य विषयों में इंटर्नल के आधार पर पास कर दिया जायेगा. माना जा रहा है कि बोर्ड अब इन विषयों में भी इंटरनल के आधार पर मार्किंग कर परिणाम जारी करें.